All Posts by: हिंदी समीक्षा

About हिंदी समीक्षा

उसके हिस्से का प्यार आशीष दलाल की प्रथम पुस्तक है। यह एक कहानी-संग्रह है जिसमे पाठकों को १७ कहानियां पढ़ने के लिए मिलेंगी। इस पुस्तक की प्रशंसा तमाम पुस्तक समीक्षकों ने तथा पाठकों ने भी खुले दिल से की है। आप पुस्तक के शुरू में ही उर्मि कृष्ण द्वारा की गयी समीक्षा पढ़ेंगे और वो…

बुद्धिजीवी ये बड़े गर्व से कहते हैं की कलाकारों की गरिमा होनी चाहिए एवं कला को स्वतंत्रता मिलनी चाहिए – चाहे वो कुछ भी करें। हाल में ही म्यांमार के एक प्रान्त में हो रहे साहित्य सम्मलेन में ‘फ्री स्प्रीच’ और ‘ह्यूमन राइट्स’ की ‘चेम्पियन’ आंग सां सु की ने कहा की विचारों की स्वतंत्रता…

जब बात आधुनिक हिंदी साहित्य की होती है तो हमारा मन काफी भटकने सा लगता है। हिंदी साहित्य वाले कोने में भी हमें वही किताबें मिलेंगी जो अंग्रेजी लेखकों द्वारा लिखी गयीं हैं एवं हिंदी में अनुवादित करके बस ‘मेकओवर’ कर दिया गया है ताकि हिंदी पाठक भी लुभान्वित हो जाएँ क्यूंकि कहानियां तो सभी…

जब बारी हिंदी साहित्य की आती है तो ऑंखें दिखाना एक आम बात है और हम अक्सर ऐसा देखते भी हैं।  लिट्-फेस्टों में शायद किसी कोने में आपको दबी जुबान कुछ हिंदी के लेखक या कवि भी बात करते दिख जाएँ अनायास ही। वो भी असहज महसूस करते हैं अंग्रेजी साहित्यकारों की भीड़ में आने…